नशे से होती है सामाजिक प्रतिष्ठा धूमिल : अनीता रोहिल्ला

नशे से होती है सामाजिक प्रतिष्ठा धूमिल : अनीता रोहिल्ला

गुडगांव। विश्व रोहिल्ला राजपूत संघ की राष्ट्रीय अध्यक्ष अनीता रोहिल्ला ने कहा कि अंतराष्ट्रीय नशा निषेध दिवस मनाने का उद्देश्य विश्व में नशीली दवाओं का सेवन करने वालों की संख्या को कम करना है। नशे से हमारा स्वास्थ्य ही प्रभावित नहीं होता, अपितु सामाजिक प्रतिष्ठा भी धूमिल होती है। आधुनिक समय में नशे का प्रचलन बहुत बढ़ गया है।

नशे का इस्तेमाल बच्चे व जवान सभी करने लगे हैं। उन्होंने कहा कि बच्चे देश का भविष्य हैं तथा बच्चों को नशीली दवाओं व नशीले पदार्थों के सेवन से दूर रहना चाहिए। उन्होंने युवाओं का आह्वान करते हुए कहा कि नशे से दूर रहकर एक अच्छा जीवन जिया जा सकता है। प्रदेश सरकार व जिला प्रशासन भी लगातार लोगों को नशे के प्रति जागरूक करने के लिए लगातार अभियान चला रहा है। राष्ट्रीय अध्यक्ष अनीता रोहिल्ला ने कहा कि नशा एक मानसिक बिमारी है, मनुष्य की मजबूत इच्छा शक्ति से इससे छुटकारा पाना आसान है। बच्चों को नशे से दूर रखने में माता-पिता की अहम भूमिका होती है। इसलिए माता-पिता ने बच्चों का पूरा ध्यान रखना चाहिए, ताकि वे नशे के सेवन से दूर रहे।

हरियाणा हेल्थ