मांगें नहीं मानी तो एसयूसीआई कम्युनिस्ट करेगी आंदोलन

मांगें नहीं मानी तो एसयूसीआई कम्युनिस्ट करेगी आंदोलन

रणबीर सिंह रोहिल्ला, सोनीपत। एसयूसीआई कम्युनिस्ट के जिला सचिव कामरेड इंद्र सिंह ने कहा कि कोरोना महामारी के कारण रेलवे ने ज्यादातर ट्रेन चलानी बंद कर दी गई थी, लेकिन अब कोरोना महामारी कम होने पर लॉकडाउन हटा देने के बाद कुछ गाड़ियां चलाई जा रही है। गाड़ियां कम होने के कारण गाड़ियों में काफी भीड़ हो रही है। अब सरकार को सभी गाड़ियों को पहले की तरह चलाना चाहिए। मोदी सरकार कोरोना के बहाने यात्रियों को लूट रही है। यात्रियों से10 की जगह 30 रूपए किराया ले रही है। दैनिक यात्रियों का पास भी नहीं बनाया जा रहा है। स्टाफ की कमी होने की वजह से टिकट नहीं मिलने से यात्रियों को पेनल्टी देनी पड़ रही है।

पहले ही बहुत लोगों के रोजगार छूट गए हैं और जिनको दोबारा रोजगार मिला है उनको कम वेतन पर काम करने पर मजबूर होना पड़ रहा है। पहले से ही डीजल, पेट्रोल, रसोई गैस, खाने के तेल की मार जनता झेल रही है। ऊपर से रेलवे ने कोरोना महामारी की आड़ में यात्रियों के साथ लूट मचा रखी है। एसयूसीआई कम्युनिस्ट के जिला सचिव कामरेड इंद्र सिंह ने कहा कि स्कूल फीस बढ़ा रहे हैं। महामारी में निजी अस्पतालों ने जबरदस्त लूट की है। कामरेड ने सरकार से मांग करते हुए कहा कि सभी यात्री गाड़ियों को चलाया जाए, मासिक पास बनाए जाएं, न्यूनतम किराया दोबारा से 10 रुपए किया जाए। यदि फिर भी सरकार इन मांगों को तुरंत लागू नहीं करती है तो एसयूसीआई कम्युनिस्ट जल्दी ही इसके खिलाफ आंदोलन शुरू करेगी।

राजनीति हरियाणा