मुसीबत में दिखे कोई बच्चा तो बाल कल्याण समिति को करें सूचित : एडवोकेट कौशिक

0
Rajesh sulija
Rajesh sulija

हिसार, राजेश सलूजा। कोरोना महामारी के दौरान अगर जिले में कोई बच्चा अनाथ हो गया या उसे किसी प्रकार की मदद की आवश्यकता है तो इसकी सूचना बाल कल्याण समिति, पुलिस अथवा चाइल्ड हेल्पलाइन 1098 को दे सकते हैं। बाल कल्याण समिति हिसार सदस्य एडवोकेट मनोज कोशिक चंद्रवंशी ने कहा कि कुछ लोग मानव तस्करी के अवैध धंधे में संलिप्त होते हैं, जो बच्चों को संतान के इच्छुक माता-पिता को बेचने की कोशिश में रहते हैं। अगर कोई अनाथ बच्चा किसी को मिल जाता है तो कानूनी कार्यवाही के बिना उसको घर पर नहीं रखना चाहिए। यह अपराध की श्रेणी में आता है। ऐसी स्थिति में तत्काल पुलिस, चाइल्ड हेल्पलाइन, बाल कल्याण समिति अथवा जिला बाल संरक्षण अधिकारी को सूचित करना चाहिए।

एडवोकेट चंद्रवंशी ने कहा कि कोरोना महामारी के चलते सोशल मीडिया पर मासूम बच्चों की फोटो शेयर कर आमजन की भावनाओं से खिलवाड़ किया जा रहा है, जो सर्वथा गलत एवं गैर कानूनी है। वास्तव में इन सबके पीछे कोई सच्चाई नहीं होती। आम जनमानस को इन सबसे सावधान रहना चाहिए और किसी प्रकार के झांसे में आने से बचना चाहिए। चंद्रवंशी ने कहा कि यदि कोई बच्चा संकट में है या शारीरिक व मानसिक रूप से पीडि़त है तो इसकी जानकारी आप बाल कल्याण समिति, पुलिस अथवा चाइल्ड हेल्पलाइन को दे सकते हैं।

कोरोना काल में यदि कोई ऐसा बच्चा जो महामारी के चलते अपने माता-पिता को खो चुका है अथवा उसके अभिभावक अस्पताल में भर्ती हैं और देखरेख के लिए कोई नहीं है तो ऐसे में बाल कल्याण समिति उस बच्चे का समुचित प्रबंध कर सकती है। कुछ असामाजिक तत्वों के द्वारा इस समय फैलाए गए भ्रम में न फंस कर बाल कल्याण समिति को इस बारे में अवश्य ही सूचित करना चाहिए। सरकार द्वारा जिले में कई ऐसी संस्थाएं एवं योजनाएं बनाई हुई है जो बालकों के हित एवं अधिकारों के संरक्षण के लिए कार्य करती हैं। इस संकट की घड़ी में बालकों की परवरिश पोषण और संरक्षण किसी प्रकार से बाधित न हो इसका ध्यान रखते हुए बाल कल्याण समिति हिसार 24 घंटे इस कार्य में लगी हुई है। किसी प्रकार के बाल अधिकारों के शोषण, किसी अनाथ बच्चे, किसी जरूरतमंद बच्चे की जानकारी यदि किसी को लगती है तो तुरंत ही बाल कल्याण समिति से संपर्क किया जा सकता है अथवा आपात स्थिति में चाइल्ड हेल्पलाइन 1098 पर संपर्क करके आप बता सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here