शिक्षा चरित्र निर्माण का साधन : सीएम खट्टर

0
>सुरेश सिसोदिया, जींद। हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि प्रदेश में वर्तमान सरकार के दौरान शिक्षा के क्षेत्र में अमूलचूक परिवर्तन हुआ है और अध्यापकों के हित में ऑनलाईन अध्यापक ट्रांसफर नीति लागू करके अध्यापकों को संतुष्ट करने का काम किया है ताकि बच्चों की पढ़ाई भली भांति ढ़ंग से की जा सके। मुख्यमंत्री शुक्रवार को पंचकूला स्थित रैडबिशाप रिसोर्ट में राज्य स्तरीय सक्षम सम्मान समारोह में विद्यार्थियों, अध्यापकों,एवं अन्य लोगों को सम्बोधित कर रहे थे। समारोह की अध्यक्षता हरियाणा के शिक्षा मंत्री प्रो. रामबिलास शर्मा ने की। इस मौके पर डिजिटल सरटेन रैजर प्लस डेमो के माध्यम से पांच योजनाओं नामत: सीएम सक्षम छात्रवृति, ऑनलाईन सर्विस बुक, सक्षम समीक्षा एप्प, सक्षम अध्यापक एप्प, सक्षम जिला स्कोर कार्ड का लांच किया। इस मौके पर वीडियो कॉन्फ्रेसिंग के माध्यम से मुख्यमंत्री फिरोजपुर झिरका (नूंह), रोहतक, पंचकूला, हिसार व अन्य जिलों के विद्यार्थियों से रूबरू हुए और सक्षम की कामयाबी बारे विद्यार्थियों के अनुभव व विचारों को जाना। मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि शिक्षा चरित्र निर्माण का साधन है। शिक्षा को बोझ नहीं समझना चाहिए बल्कि आनंद लेने के मिशन के रूप में विद्यार्थी पढ़ाई में रूचि लेते हुए अपने लक्ष्य की ओर बढ़े। उन्होंने कहा कि जो विद्यार्थी लगातार पढ़ता है वह ही अपने लक्ष्य प्राप्ति की आगे बढ़ता है। उन्होंने कहा कि कौशिक करने वालों की कभी हार नहीं होती, इसलिए विद्यार्थी मेहनत से अपने लक्ष्य की और बढ़े और जीवन में सफलता प्राप्त करें। रोटी, कपड़ा, मकान, बिजली, पानी, सड़क व अन्य सुविधाओं के साथ- साथ हरियाणा सरकार का सुरक्षा, स्वास्थ्य व शिक्षा पर विशेष फोकस है। उन्होंने शिक्षा सम्बन्धित संरचना की आवश्यकता पर विशेष बल दिया ताकि बच्चों की पढ़ाई में कोई बाधा न आये। उन्होंने कहा कि हरियाणा सक्षम योजना को ओर आगे बढ़ाना है ताकि बच्चों को काबिल बनाया जा सके। उन्होंने कारगिल विजय दिवस पर वीर शहीदों को याद करते हुए उनको नमन किया। उन्होंने पौधागिरी कार्यक्रम की महता पर प्रकाश डालते हुए कहा कि प्रत्येक विद्यार्थी यादगार के रूप में एक- एक पौधा अवश्य लगाये। उन्होंने ई- गर्वमैन्टस, मेरी फसल -मेरा ब्योरा, मेरा परिवार- मेरी पहचान, स्कील डवलपमैन्ट व अन्य योजनाओं के बारे में भी व्याख्यान करते हुए कहा कि लोगों के कल्याण के लिए हरियाणा सरकार द्वारा तरह- तरह की जन कल्याकारी योजनाएं व अन्य कार्यक्रम चलाये जा रहे है। इस मौके पर मुख्यमंत्री ने मेधावी विद्यार्थियों के साथ- साथ सक्षम योजना में सराहनीय कार्य करने वाले अध्यापकों को भी सम्मानित किया। इससे पूर्व हरियाणा के शिक्षा मंत्री प्रो. रामबिलास शर्मा ने सक्षम योजना एवं ऑनलाईन अध्यापक ट्रांसफर नीति व शिक्षा की गुणवता सम्बन्धित हरियाणा सरकार द्वारा किये जा रहे प्रयासों की सराहना करते हुए कहा कि हरियाणा ने हर क्षेत्र में कीर्तिमान स्थापित किये है। इस मौके पर वीडियों कॉन्फ्रेसिंग के माध्यम से जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय जींद में आयोजित सक्षम सम्मान समारोह में उपायुक्त डॉ. आदित्य दहिया एवं स्कूली बच्चों, अध्यापकों ने मुख्यमंत्री के कार्यक्रम को सुना । उपायुक्त ने एच एस एम एस स्कीम के तहत 2०16- 17 से 2०18-2०19 तक में 92 प्रतिशत अंक प्राप्त करने वाले जिला के 88 विद्यार्थियों को लैफटॉप प्रदान किये और सक्षम में सराहनीय कार्य वाले 47 अध्यापकों को सम्मान पत्र वितरित किये। समारोह में उपायुक्त ने कहा कि जिला के समस्त सातों खण्ड सक्षम बन चुके है। उन्होंने इसके लिए विशेष तौर से शिक्षा विभाग को बधाई देते हुए कहा कि यह सब अध्यापक व विद्यार्थियों की मेहनत का परिणाम है, इसलिए आज विद्यार्थियों के चेहरों पर मुस्कान झलक रही है। उन्होंने कहा कि अनुशासन के साथ विद्यार्थी सक्षम योजना को आगे बढ़ाने का काम करेंगे। उन्होंने कहा कि विद्यार्थियों को स्कील डवलपमैंट पर भी विशेष ध्यान देना होगा ताकि भविष्य सुंदर बने। इस मौके पर शिक्षा विभाग के डिप्टी डीईओ जगदीश चन्द्र, सक्षम नोडल अधिकारी संदीप सिंह, डीएमएस आनंद पाल, डीएसएस रणधीर सिंह, डीआईपीआरओ सुरेन्द्र कुमार वर्मा, एआईपीआरओ सुनील कुमार, प्रदीप कुमार, शिक्षा विभाग के अध्यापकगण व विद्यार्थी भी उपस्थित रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here