किसानों को भडक़ाने वाली भाषा का प्रयोग अलोकतांत्रिक : सांसद कौशिक

किसानों को भडक़ाने वाली भाषा का प्रयोग अलोकतांत्रिक : सांसद कौशिक

  • सांसद रमेश कौशिक ने की कैप्टन अमरिंदर सिंह के बयान की कड़ी निंदा
    भाजपा सरकार सच्ची किसान हितैषी, किसानों को बहकावे में आने से बचना चाहिए

रणबीर रोहिल्ला, सोनीपत। सांसद रमेश कौशिक ने पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के किसानों को दिल्ली-हरियाणा में धरना देने संबंधी बयान की कड़ी निंदा की है। उन्होंने कहा कि किसानों को भडक़ाने वाली भाषा का प्रयोग अलोकतांत्रिक है। ऐसी भाषा का प्रयोग निंदनीय है। सांसद रमेश कौशिक ने कहा कि कैप्टन अमरिंदर सिंह वरिष्ठ नेता हैं, जिनको इस प्रकार की भाषा का प्रयोग करने से बचना चाहिए। धरनारत किसानों को समझाने का प्रयास करना चाहिए, न कि उन्हें भडक़ाया जाए। इस प्रकार के भडक़ाऊ प्रयासों से किसी का भला नहीं हो सकता। इतने बड़े ओहदे पर बैठकर ऐसी भाषा उचित नहीं है।

यह लोकतंत्र के हित में नहीं है। उन्होंने कहा कि लोकतंत्र में अपनी बात कहने का अधिकार सबको है। लोकतंत्र की मर्यादा बनाये रखनी चाहिए। सांसद कौशिक ने कहा कि किसानों को भी चाहिए कि वे किसी भी प्रकार की राजनीति में न फंसे। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार सच्ची किसान हितैषी है। किसानों का अहित सरकार सोच भी नहीं सकती। इस बात को किसानों को समझना चाहिए। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सदैव किसानों का भला सोचते हैं और चाहते है। वे किसानों के सबसे बड़े हितैषी है। किसानों को किसी भी प्रकार के बहकावे में आने से बचना चाहिए।

राजनीति हरियाणा