राधे-राधे जपो चले आएंगे बिहारी….

राधे-राधे जपो चले आएंगे बिहारी….

शहर में बड़े धूमधाम से मनाई राधा अष्टमी

रणबीर रोहिल्ला, सोनीपत। श्रीकृष्ण जन्माष्टमी का पर्व भादो मास की कृष्ण पक्ष की अष्टमी को मनाया जाता है। उसी प्रकार राधा अष्टमी का पर्व भी यानि राधा रानी का जन्मोत्सव भादो मास शुक्ल पक्ष की अष्टमी को बड़ी ही धूमधाम से मनाया जाता है। मिशन चौक स्थित प्राचीन शिव मंदिर में राधा अष्टमी का पर्व बड़े हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। जिसमें महिलाओं ने श्रद्धा के साथ भजन कीर्तन व पूजा अर्चना की। मंदिर के पुजारी पंडित कृष्ण प्रसाद ने पूरी विधि विधान व मंत्रोच्चारण के साथ श्री राधा रानी की पूजा अर्चना करवाई। इसके बाद श्रद्धालुओं को प्रसाद वितरण किया गया।

राधा तू मेरी स्वामिनी, मैं राधे को दास। जनम जनम मोहि दीजियो, श्रीवृन्दावन वास।। बैकुंठ में भी ना मिले, वह सुख श्याम तेरे धाम में है। कितनी भी बड़ी हो विपदा, समाधान राधे तेरे नाम में है। जय श्री राधे-राधे।  मंदिर के पुजारी पंडित कृष्ण ने बताया कि हर वर्ष की भांति इस साल भी राधा अष्टमी का पर्व मनाया गया है। मंदिर में 10 दिवसीय गणेश महोत्सव चल रहा है। जिसमें प्रतिदिन सुबह-शाम गणेश जी की पूजा अर्चना की जाती है, जिसमें बड़ी श्रद्धा के साथ श्रद्धालु भाग लेते हैं और भक्तिरस में सराबोर हो जाते हैं। इस दौरान सुन्दर-सुन्दर झांकियां भी प्रस्तुत की जाती है, जिसे वातावरण भक्तिमय हो जाता है।

देश धर्म-कर्म हरियाणा