नहरों, डै्रनों तथ यमुना में स्नाने करने पर पाबंधी लगाते हुए उपायुक्त ने किए आदेश जारी

नहरों, डै्रनों तथ यमुना में स्नाने करने पर पाबंधी लगाते हुए उपायुक्त ने किए आदेश जारी

-सभी बीडीईओ, पटवारी, ग्राम सचिव नहरों में स्नान न करने के प्रति करें लोगों को जागरूक 

श्याम वशिष्ठ, सोनीपत। उपायुक्त ललित सिवाच ने कहा कि जिला से गुजरने वाली नहरें, ड्रैन तथा यमुना में हर साल स्नान करने वाले बच्चे या व्यक्ति अपनी लापरवाही या अज्ञानता के कारण पानी में डूबने से अनेक लोगों की मृत्यु हो जाती है। इसके अलावा नहरों व नदियों के किनारे शराब का सेवन करने उपरांत नशे की हालत में स्नान करते हुए पानी में डूब जाते है। उन्होंने बताया कि पिछले एक माह के अंदर गांव रोहणा के रहने वाले गौरव की एनसीआर चैनल गुरूग्राम, बड़वासनी गांव के रहने वाले साहिल की बडवासनी नहर पुल के पास, गांव हरसाना के रहने वाले अंकुश की रोहट नहर पुल के पास, लाखन माजरा के रहने वाले अरूण की कैलाना महमूदपुर पुल के पास, कैलाना गांव के रहने वाले जितेन्द्र की दिल्ली ब्रांच कैलाना पुल के पास तथा गांव कंवाली के रहने वाले विकास की एनसीआर गुडगांव माईनर भदाना पुल के पास नहर में नहाते समय पानी में डूबने से मृत्यु हुई है।

उपायुक्त ने कहा कि नहरों में स्नान करने, नहरों के किनारे वाहन धोने तथा नहरों के किनारों पर शराब पीने पर पाबंधी लगाते हुए पहले भी धारा-144 लगाई गई है लेकिन फिर भी डूबने वालों का आकड़ा लगातार बढ रहा है। इसलिए सभी खण्ड विकास एवं पंचायत अधिकारी, पटवारियों को आदेश दिए गए हैं कि वे अपने क्षेत्र में आने वाली नहरों, ड्रैनों तथा यमुना पर संबंधित ग्राम सचिव, नंबरदार तथा चौकीदार के साथ बैठक कर सभी गांव में मुनादी करवाई जाए और लोगों को जागरूक करें कि वे गर्मी के मौसम के चलते नहरों, ड्रैन या यमुना में स्नान न करें और न ही नहरों के किनारें शराब का सेवन करें। उपायुक्त ने जिलावासियों से अपील करते हुए कहा कि कोई भी व्यक्ति नहरों, ड्रैनों तथा यमुना में स्नान न करें और न ही उनके किनारें शराब का सेवन करें ताकि सभी लोगों की जिन्दगी सुरक्षित रह सकें।

राजनीति हरियाणा हेल्थ