नशे के कारण ही युवाओं में अपराध की प्रवृति बढ रही : दहिया

नशे के कारण ही युवाओं में अपराध की प्रवृति बढ रही : दहिया

रणबीर रोहिल्ला, सोनीपत। आदर्श सरस्वती शिक्षा समिति द्वारा अंतर्राष्ट्रीय मघ निषेध दिवस के उपलक्ष्य में एक सेमिनार का आयोजन किया गया। मुख्य अतिथि के रूप में बोलते हुए पूर्व जिला परिषद अध्यक्ष  राज सिंह दहिया ने कहा कि सोनीपत जिला राष्ट्रीय राजधानी के क्षेत्र से सटा हुआ होने के कारण युवा वर्ग में आधुनिक नशे का प्रचलन बढ़ रहा है। ग्रामीण क्षेत्र में लोगों की जमीन एक्वायर होने के कारण यकायक आए पैसों से युवाओं में शान से जीवन जीने व नशे का प्रचलन बढ़ा है। इसी कारण युवा वर्ग में अपराध की प्रवृति बढ रही है।

बेरोजगारी इस समस्या को बढ़ावा दे रही है। दिल्ली के साथ लगते गांव में आधुनिक नगरों का प्रभाव ज्यादा है। संस्था प्रधान ओम प्रकाश दहिया ने कहा कि नशा एक मानसिक बिमारी है,  मजबूत इच्छा शक्ति, उचित परामर्श व परिवार के सहयोग से इसका इलाज सम्भव है। संस्था द्वारा गत 16 वर्षों से निशुल्क नशा मुक्ति केन्द्र का संचालन किया जा रहा है, परन्तु बुरी संगत व परिवारिक लडाई के कारण 60 से 65 प्रतिशत नशे के रोगी बन जाते हैं। आधुनिक नशे की किशोर अवस्था में शुरूवात शोक व यारी दोस्ती के कारण दबाव के कारण होती है। बच्चों को नशे से दूर रखने में माता-पिता की अहम भूमिका होती है। मां-बाप व्यस्त होने के कारण बच्चों की किशोर अवस्था में पूरा ध्यान नहीं दे पाते है।

महावीर सिंह हुडडा नशा मुक्ति केन्द्र संयोजक ने कहा कि कोरोना व बेरोजगारी के कारण युवाओं में अवसाद व नशे का प्रचलन बढ़ रहा है। कोविड ने स्वस्थ रहने के लिए सुरक्षात्मक उपाय और एक दूसरे की सुरक्षा के बारे में जन जागरूकता लाई है। हमें सरकार द्वारा समय-समय पर सुझाए गए दिशा निदेर्शो जैसे नाक व मुहं को मास्क द्वारा कवर करना, 2 गज की दूरी, साबुन से हाथ धोना, सानेटाइजर का प्रयोग, वैक्सीन लगवाना, ताकि हम औरो को भी स्वस्थ रखे। सुनिता त्यागी ने कहा कि नशे की समस्या के समाधान के लिए माता-पिता, शिक्षकों, समाज सेवी संस्थाओं एवं सरकार ने मिलकर कार्य करना पडेगा। कार्यक्रम में पुनम शर्मा सीमा, मंजु, आशा आदि उपस्थित रहे।

हरियाणा हेल्थ