रिकवरी रेट को और ज्यादा बढाने के लिए किए जा रहे अथक प्रयास

रिकवरी रेट को और ज्यादा बढाने के लिए किए जा रहे अथक प्रयास

सोनीपत। उपायुक्त ललित सिवाच ने कहा कि कोरोना की रोकथाम के लिए जिला प्रशासन की ओर से युद्घ स्तर पर कार्य किए जा रहे हैं। चाहे वो कोविड टेस्टिंग को लेकर या कोविड वैक्सीन टीकाकरण को लेकर हो। किसी भी रूप से आमजन को परेशानी न हो इसके लिए हेल्पलाइन नंबर जारी करने सहित अस्पतालों में ऑक्सीजन आपूर्ति से लेकर बैड की उपलब्धता पर प्रशासन द्वारा पूरा ध्यान दिया जा रहा है। उपायुक्त सिवाच ने स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों का ब्यौरा देते हुए बताया कि कोरोना महामारी के दौरान अब तक सोनीपत जिला में कुल 47 हजार 382 कोरोना के मरीज मिले हैं उनमें से 47 हजार 97 मरीज ठीक हो चुके हैं।

उन्होंने बताया कि जिला में बुधवार को 12 मरीजों को डिस्चार्ज किया गया है। जिला में अब तक कोरोना से मरने वालों का आकड़ा 253 है। लोगों के स्वास्थ्य सुधार के लिए कोरोना संक्रमण से प्रभावित मरीजों को अस्पताल में इलाज मुहैया कराने के साथ-साथ होम आइसोलेशन में भी रखा जा रहा है। जिला में अब 22 मरीज होम आइसोलेशन में हैं। उपायुक्त ने बताया कि जिला में कोविड टेस्टिंग की रफ्तार को बढाया गया है जिला में प्रतिदिन 1500 से अधिक लोगों के टेस्ट किए जा रहे है। उन्होंने बताया कि आज के बाद इसे और अधिक करने का प्रयास किया जाएगा। सभी गांवों में भी कोविड टेस्टिंग के लिए स्वास्थ्य टीमें युद्ध स्तर पर कार्य कर रही हैं।

83 किसानों की थर्मल स्कैनिंग करते हुए 147 मास्क बांटे गए  

सोनीपत। उपायुक्त ललित सिवाच ने कहा कि राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या-44 पर धरनारत किसानों की स्वास्थ्य जांच नियमित रूप से जारी है। इस दौरान बुधवार को 83 किसानों की थर्मल स्कैनिंग की गई। साथ ही 147 मास्क भी बांटे गए। उपायुक्त ने बताया कि 69 किसानों को पैरासिटामोल की टेबलेट तथा 56 को बी-कॉम्पलैक्स की टेबलेट और 50 को विटामिन-सी की टेबलेट वितरीत की गई है। 29 किसानों को ओआरएस, 48 को रैनटेक, 64 को एम्लोडीपिन, 59 को सिट्राजिन और 52 मेट्रोजिल की टेबलेट बांटी गई हैं।

उपायुक्त सिवाच ने धरनारत किसानों से अपील की कि वे मास्क का प्रयोग अवश्य करें। कोरोना वायरस के संक्रमण के दृष्टिगत बचाव संबंधी उपाय अवश्य करने चाहिए। उन्होंने कहा कि धरनारत किसानों को जरूरी दवाइयों के वितरण के साथ स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध करवाई जा रही हैं। किसानों को इसका लाभ उठाना चाहिए।

हरियाणा हेल्थ