जनता की शिकायतों के तय समय में समाधान न होने पर उठाएंगे कड़े कदम : निखिल मदान

जनता की शिकायतों के तय समय में समाधान न होने पर उठाएंगे कड़े कदम : निखिल मदान

  • -पेयजल समस्या को लेकर मेयर ने दिखाए कड़े तेवर

    -निगम क्षेत्र में चल रही पेयजल समस्या को लेकर मेयर ने की अधिकारियों और पार्षदों के साथ बैठक

    -मेयर और पार्षदों ने आयुक्त नगर निगम के सामने रखी अधिकारियों के मनमाने और गैर जिम्मेदाराना व्यवहार की शिकायत

रणबीर रोहिल्ला, सोनीपत। सोमवार को नगर निगम कार्यालय में मेयर निखिल मदान ने शहर में चल रही पेयजल समस्या को लेकर निगम अधिकारियों को तलब किया और बैठक कर उनसे जवाब मांगा। मेयर निखिल मदान ने कहा कि अधिकारियों की लापरवाही के चलते आज शहर की विभिन्न कालोनियों और कई गांवों में पीने के पानी की समस्या बनी हुई है। उनके पास लगातार लोगों के फोन आ रहे हैं की उनके यहां पानी की आपूर्ति नहीं हो रही। इतनी भीषण गर्मी में लोगों को बिजली-पानी तक ना पहुंचा पाना सीधे-सीधे प्रशासन की विफलता है।

उन्होंने कहा कि कुछ दिन पहले उन्होंने खुद अधिकारियों के साथ मुरथल रोड के बूस्टर स्टेशन और शहर के अन्य बूस्टर का दौरा किया था। इस दौरान उन्होंने सभी खराब पड़े ट्यूबवेल की मरम्मत और आवश्यकतानुसार नए ट्यूबवेल लगाने के आदेश दिए थे, लेकिन अधिकारियों के ढीले रवैये के चलते हालत जस के तस हैं और वे ये कतई बर्दाश्त नहीं करेंगे। मेयर मदान ने  नगर निगम आयुक्त जगदीश शर्मा से बात करते हुए कहा कि उनके और अधिकारियों के बार-बार दिए जाने वाले आश्वाशन से संतुष्ट नहीं होने वाले हैं। अब अधिकारियों के खिलाफ कड़े कदम उठाने से पीछे नहीं हटेंगे। मौके पर मौजूद पार्षद हरिप्रकाश सैनी, मुकेश सैनी और मोनिका ने भी अपनी समस्यायों को निगम आयुक्त के सामने रखा।

मेयर मदान ने बैठक में मौजूद संयुक्त आयुक्त सुभाष चंद्र और एसई अशोक रावत को निर्देश दिए कि मुरथल बूस्टर स्टेशन के साथ-साथ सभी ज्यादा समस्या वाली कालोनियों में तुरंत नई मोटर लगाकर पेयजल आपूर्ति को नियमित किया जाए। बैठक में अधिकारियों को निर्देश देते हुए मेयर ने कहा कि यमुना में जल स्तर कम होने के चलते जाजल रेनीवेल प्रोजेक्ट से कम पानी आ रहा है, उसको बढ़ाने के लिए अधिकारी सिंचाई विभाग से सम्पर्क करे। उन्होंने कहा कि पेयजल लाइन की मरम्मत के दौरान वाल्व खराब होने के चलते पेयजल आपूर्ति बाधित ना हो इसलिए कम से कम 25  अतिरिक्त वाल्व निगम के स्टोर में  रखे जाएं। आगामी बरसात के मौसम को देखते हुए मेयर ने एक्सईएन पंकज सैनी को  सभी नालों की सफाई को जल्द से जल्द पूरा करवाने के निर्देश भी दिए। बस स्टैंड से लेकर कबीरपुर पुलिया तक ड्रेन न 6  की शील्ड सफाई करने के निर्देश भी दिए गए।

रेन वाटर हार्वेस्टिंग के लिए बनाये गए सभी केंद्रों की सफाई के निर्देश भी दिए गए। मेयर मदान ने कहा कि विकास कार्यों में ढील बिलकुल बर्दाश्त नहीं होगी और वो हर समय पार्षदों के साथ खड़े हैं। आज कांग्रेस हो या भाजपा हर पार्षद अधिकारियों की मनमानी से परेशान है। उन्होंने कहा कि पीने का पानी और सीवरेज सफाई जैसी मूलभत सुविधा पाना हर नागरिक का अधिकार है और अब वो दोषी अधिकारियों के खिलाफ कड़ा कदम उठाने से पीछे नहीं हटेंगे। बैठक में संयुक्त आयुक्त नगर निगम सुभाष चंद्र, एसई अशोक रावत, एक्सईन पंकज सैनी, जसवंत, अभिषेक, एसडीओ सतीश, रमेश, नरेंद्र, देविंदर खासा, जेई परविंदर, प्रदीप शर्मा, सूर्या धनखड़, कृष्ण दहिया, अतुल कुमार, संदीप राठी, काजल, संदीप खोखर, जतिन आदि मौजूद रहे।

राजनीति हरियाणा