मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने दी सोनीपत को विकास की नई सौगात

0
सोनीपत। विडियो कांफ्रेंस के माध्यम से परियोजनाओं का लोकार्पण करते सीएम मनोहर लाल।

-विडियो कान्फ्रेंस के माध्यम से 27 करोड़ 77 लाख 42 हजार करोड़ रुपये की परियोजनाएं मिली
-एक विकास परियोजना का शिलान्यास करते हुए छह का किया लोकार्पण
– सोनीपत संसदीय क्षेत्र को दिलाई 40 हजार करोड़ रुपये की विकास परियोजनाएं: सांसद कौशिक
-रेल कोच फैक्टरी का निर्माण कार्य जल्द होगा पूरा, अंतर्राष्ट्रीय बागवानी मार्केट शीघ्र होगी प्रारंभ

फोटो 10एसएनपी2 : सोनीपत। विडियो कांफ्रेंस के माध्यम से परियोजनाओं का लोकार्पण करते सीएम मनोहर लाल।
रणबीर रोहिल्ला, सोनीपत। हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने हरियाणा के विकास को नई बुलंदियां प्रदान की है, जिसमें सोनीपत जिले को विशेष रूप से शामिल किया गया है। मुख्यमंत्री ने गुरूवार को विडियो कान्फ्रेंस के माध्यम से प्रदेशभर के 17 जिलों में 1170 करोड़ रुपये की 98 विकास परियोजनाओं का लोकार्पण एवं शिलान्यास किया। इनमें सोनीपत जिला की भी 27 करोड़ 77 लाख 42 हजार रुपये की सात विकास परियोजनाएं शामिल रही। प्रदेश स्तर पर विकास परियोजनाओं का लोकार्पण, शिलान्यास समारोह चंडीगढ़ (हरियाणा निवास) में आयोजित किया गया, जिसका सीधा प्रसारण सोनीपत के लघु सचिवालय के सभागार में किया गया।

जिला स्तर पर प्रमुख अतिथि के रूप में सांसद रमेश कौशिक शामिल हुए, जिन्होंने सोनीपत की विकास परियोजनाओं का औपचारिक रूप से लोकार्पण एवं शिलान्यास किया। मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने सोनीपत सहित प्रदेश को विकास की नई सौगात प्रदान करते हुए कहा यह दिन सदैव याद रखा जाएगा। आज के दिन प्रदेश के अधिकांश जिलों में सैंकड़ों करोड़ रुपये की विकास परियोजनाओं का शिलान्यास व लोकार्पण किया गया है। विकास की इस गति को थमने नहीं दिया जाएगा। भाजपा ने प्रदेश में अपने कार्यकाल में निरंतर विकास कार्यों को आगे बढ़ाया है। सभी क्षेत्रों का समान रूप से विकास किया गया है। इस दौरान उन्होंने भविष्य की योजनाओं की जानकारी देते हुए कहा कि हर जिले में एक मेडिकल कालेज स्थापित किया जाएगा। चार सौ नब्बे करोड़ रुपये की लागत से गांवों को रास्तों के माध्यम से जोड़ा जाएगा। प्रदेश में सडक़ों का जाल बिछाया जा रहा है, जिसे और मजबूती देंगे।

गन्नौर में स्थापित की जा रही भारतीय अंतर्राष्ट्रीय बागवानी मार्केट (आईआईएचएम) को शीघ्र प्रारंभ किया जाएगा। साथ ही उन्होंने विभिन्न विकास कार्यों व परियोजनाओं की जानकारी दी। स्थानीय स्तर पर अधिकारियों-कर्मचारियों को संबोधित करते हुए सांसद रमेश कौशिक ने मुख्यमंत्री का आभार प्रकट करते हुए कहा कि सोनीपत के विकास को नई दिशा प्रदान की है। इससे विकास को गति मिलेगी। ऑक्सिजन प्लांट की स्थापना से कोविड-19 कोरोना वायरस से निपटने में मदद मिलेगी। सांसद ने कहा कि उन्होंने अपने संसदीय क्षेत्र में 40 हजार करोड़ रुपये की विकास परियोजनाओं की सौगात दिलाई है, जिनमें कुछ परियोजनाएं पूर्ण हो चुकी हैं। उन्होंने कहा कि गन्नौर में स्थापित की जा रही रेलवे कोच फैक्टरी का निर्माण कार्य अति शीघ्र पूरा कर लिया जाएगा। गन्नौर की बागवानी मार्केट भी शीघ्र शुरू की जाएगी।

गन्नौर की विधायक निर्मल चौधरी ने जिलावासियों को विकास की नई सौगात मिलने पर बधाई दी। उन्होंने कहा कि निश्चित  रूप से जिला के विकास को मजबूती मिली है। भविष्य में भी बेहतरीन विकास परियोजनाओं की सौगात दी जाएगी। उन्होंने कोरोना वायरस को नियंत्रित करने के लिए सरकार व प्रशासन की मुक्त कंठ से प्रशंसा भी की। उन्होंने कहा कि संभावित तीसरी लहर को भी एकजुटता के साथ मात दी जाएगी। इस दौरान उपायुक्त ललित सिवाच ने मुख्यमंत्री मनोहर लाल व सांसद रमेश कौशिक का आभार प्रकट करते हुए कहा कि सोनीपत को बेहतरीन विकास परियोजनाएं दी गई हैं। उन्होंने कहा कि आधारशिला रखी गई परियोजना का निर्माण कार्य भी निर्धारित समयावधि में पूरा करवाया जाएगा। उन्होंने भरोसा दिलाया कि सरकार की सभी विकास परियोजनाओं को समयबद्धता के साथ पूरा करवायेंगे। सरकार की सभी योजनाओं का पूरा लाभ आम जनमानस को दिया जाएगा।

सोनीपत को मिली इन विकास परियोजनाओं की सौगात 

मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने सोनीपत की छह विकास परियोजनाओं को लोकार्पित किया, जिनमें 38 लाख 75 हजार रुपये की लागत से नवनिर्मित सब-हैल्थ सेंटर गामड़ी, 34 लाख 95 हजार रुपये की लागत से बनाये गये सब हैल्थ सेंटर न्यात, 360 लाख रुपये की लागत से निर्मित प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र (पीएचसी) जाखौली, राजीव गांधी एजुकेशन सिटी में 743 लाख रुपये की लागत से स्थापित फायर स्टेशन, भक्त फूल सिंह महिला विश्वविद्यालय खानपुर कलां में 1000 लाख रुपये की लागत से स्थापित किये गये स्पोर्टस कॉम्पलैक्स और बीपीएस मेडिकल कालेज खानपुर कलां में 90 लाख 72 हजार रुपये की लागत से स्थापित पीएसए ऑक्सिजन प्लांट (1000 एलपीएम की क्षमता) शामिल हैं। साथ ही उन्होंने एक विकास परियोजना की आधारशिला भी रखी, जो कि लघु सचिवालय सोनीपत परिसर में ईवीएम व वीवीपैट के उचित रखरखाव के लिए गोदाम के रूप में शामिल है। इस पर करीब 510 लाख रुपये की लागत आएगी। इस प्रकार कुल 2777.42 लाख रुपये की विकास परियोजनाएं प्रदान की गई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here