बिजली मंत्री रणजीत ने कोविड अस्पतालों का दौरा कर ली स्वास्थ्य सुविधाओं की जानकारी

0

-गांवों में संक्रमण का फैलाव चिंता का विषय, बढाई जाएगी टेस्टिंग : रणजीत सिंह, -चिकित्सक इलाज के साथ-साथ मरीजों का बढाएं हौसला, -कोविड की सभी आवश्यक सुविधाएं उपलब्ध, इलाज में नहीं रहने दी जाएगी कोई कमी, -प्रदेश सरकार प्राथमिकता से लड़ रही कोरोना लड़ाई, मुख्यमंत्री स्वयं कर रहे स्वास्थ्य व्यवस्थाओं की निगरानी, -जिला में हो रही ऑक्सीजन की पर्याप्त उपलब्धता, उड़ीसा से ट्रेन व बाई एयर हो रही आपूर्ति, -बिजली मंत्री ने कोविड मरीजों के परिजनों से बातचीत कर बढाया हौसला, इलाज संबंधी ली जानकारी

राजेश सलूजा, सिरसा। प्रदेश के बिजली, अक्षय ऊर्जा एवं जेल मंत्री रणजीत सिंह ने कहा कि सरकार कोरोना के खिलाफ लड़ाई को प्राथमिकता से लड़ रही है और संक्रमण फैलाव पर अंकुश को लेकर युद्ध स्तर पर कार्य किए जा रहे हैं। कोविड के इलाज के लिए सभी आवश्यक स्वास्थ्य सुविधाएं पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध हैं। मरीजों के इलाज में किसी प्रकार की कोई कमी नहीं रहने दी जाएगी। मुख्यमंत्री मनोहर लाल स्वयं कोविड प्रबंधों व व्यवस्थाओं की निगरानी कर रहे हैं।

यह बात बिजली मंत्री ने सोमवार को शहर के विभिन्न कोविड अस्पतालों के दौरे के दौरान कोविड मरीजों के परिजनों के साथ बातचीत के दौरान कही। उन्होंने अस्पतालों में कोविड मरीजों के लिए उपलब्ध स्वास्थ्य सुविधाओं, ऑक्सीजन, बैड आदि की जानकारी ली। मंत्री ने चिकित्सकों से कहा कि इस समय पूरी दुनिया संकट के दौर से गुजर रही है और हर कोई इससे उभरने में अपना सहयोग दे रहा है। चिकित्सक भी संकट की घड़ी में मानवीय मूल्यों के साथ मरीजों का इलाज करते हुए मानवता की मिशाल बनकर दूसरों के लिए प्रेरणा स्रोत बनें। उन्होंने जीवन ज्योति, लाल गढिया, बिश्नोई अस्पताल, शाह सतनाम जी मल्टीस्पेशलिटी कोविड केयर सैंटर व संजीवनी अस्पताल आदि का दौरा कर स्वास्थ्य संबंधी व्यवस्थाओं का जायजा लिया और संबंधित डॉक्टरों से कोविड इलाज संबंधी पूर्ण जानकारी ली। इस अवसर पर उनके साथ भोला जैन भी उपस्थित थे। मंत्री ने डा. पीआर नैन, डा. गौरव, डा. पुनित, डा. राकेश, डा. अंजनी अग्रवाल आदि से बातचीत कर स्वास्थ्य सुविधाओं की जानकारी ली। बिजली मंत्री रणजीत सिंह, जिन्हें सिरसा व फतेहाबाद का कोविड प्रभारी भी बनाया गया है, ने कहा कि कोविड-19 महामारी में सरकार व प्रशासन नागरिकों के साथ खड़े है। संक्रमण के फैलाव को रोकने व कोविड-19 मरीजों के इलाज संबंधी स्वास्थ्य सुविधाओं के लिए धरातल स्तर पर कार्य हो रहा है।

मुख्यमंत्री स्वयं कोविड प्रबंधों से जुड़ी एक-एक चीज पर बारिकी से निगरानी रखे हुए हैं।  उन्होंने अस्पताल में कोविड-19 मरीजों के परिजनों का हौसला बढाते हुए कहा कि सिरसा में कोरोना के इलाज की सभी सुविधाएं उपलब्ध है। ऑक्सीजन, बैड, वेटिलेटर, दवाईयां आदि सभी सुविधाएं की उपलब्धता सुनिश्चित की जा रही है। उन्होंने बताया कि उड़ीसा से ट्रेन व बाई एयर के माध्यम से ऑक्सीजन की आपूर्ति हो रही है। किसी भी स्वास्थ्य सुविधा के अभाव में कोविड मरीजों के इलाज में कमी नहीं रहने दी जाएगी। उन्होंने बताया कि सिरसा के ऑक्सीजन कोटे को 2 एमटी से बढाकर साढे सात एमटी कर दिया गया है। कोविड अस्पतालों में ऑक्सीजन की उपलब्धता को लेकर प्रशासन की ओर से पूरी निगरानी रखी जा रही है और जरूरत के अनुसार ऑक्सीजन की सप्लाई की जा रही है। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार ने आवश्यक चिकित्सीय सुविधा व दवाईयों की कालाबाजारी को रोकने व मरीजों की सुविधा के मद्देनजर बैड, वेंटिलेटर, सिटी स्कैन, एम्बूलेंस आदि सुविधाओं के रेट निर्धारित किए हैं और इस संबंध में सभी कोविड अस्पतालों पर सरकार पूरी तरह से नजर बनाएं हुए है। इसलिए अस्पताल संचालक सरकार द्वारा निर्धारित रेट के अनुसार ही मरीजों को चिकित्सीय सुविधाएं मुहैया करवाएं।

उन्होंने कहा कि किसी भी अस्पताल से कोविड इलाज संबंधी शिकायत न मिलें। उन्होंने अस्पताल संचालकों से चिकित्सीय सुविधाओं की उपलब्धता की जानकारी लेते हुए कहा कि अस्पताल में कोविड इलाज से संबंधी सभी आवश्यक सुविधाएं उपलब्ध रहें और यदि कोई भी आवश्यकता पड़ती है, तो उस संबंध में प्रशासन को अवगत करवाएं। मंत्री ने दोहाराते हुए कहा कि जिला सिरसा को स्वास्थ्य सुविधाओं के लिए उन्होंने 50 लाख रुपये उपलब्ध करवा दिए गए हैं। बिजली मंत्री ने कहा कि संक्रमण का फैलाव गांवों में भी हो रहा है, जोकि चिंता का विषय है। उन्होंने कहा कि संक्रमण की कड़ी को तोडऩे के लिए ग्रामीण क्षेत्र में टेस्टिंग को बढाया जाएगा। इसके साथ ही गांवों में मेडिकल किट भी वितरित की जा रही हैं। ग्रामीण क्षेत्र में संक्रमण के फैलाव को लेकर सरकार पूरी तरह से गंभीर है और इस संबंध में मुख्यमंत्री ने संबंधित विभागों की टीमों का गठन करते हुए ग्रामीण क्षेत्र में टेस्टिंग बढाने का निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि इसी कड़ी में सिरसा के हर गांव में टेस्टिंग कार्य को तेजी से किया जाएगा, ताकि कोविड संक्रमित  की पहचान कर उसका इलाज करके संक्रमण को आगे बढने से रोका जा सके। बिजली मंत्री ने जिलावासियों विशेषकर ग्रामीण क्षेत्र के लोगों से अपील की कि कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए मॉस्क, सोशल डिस्टेसिंग, हाथों को बार-बार धोना आदि उपायों की पालना करें।

100 बैड की व्यवस्था, 50 बैड पर चिकित्सीय सेवाएं शुरू

बिजली मंत्री ने बताया कि जेसीडी में 100 बैड की व्यवस्था की गई है। इनमें से 50 बैड पर सभी आवश्यक स्वास्थ्य सुविधाओं के साथ सेवाएं शुरू हो चुकी है। उन्होंने बताया कि कोरोना संक्रमण की स्थिति अनुसार अतिरिक्त स्वास्थ्य सुविधाओं की व्यवस्था की जा रही हैं। बैड की व्यवस्था के साथ-साथ यहां पर जरूरत अनुसार डॉक्टरों की भी तैनाती की जा रही है। इसके लिए पैरा मेडिकल स्टाफ की सेवाएं ली जा रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here