किसान अपनी हरी-भरी फसलों को नष्ट ना करें : जोगिन्द्र सिंह      

0

Rajesh sulijaहिसार, राजेश सलूजा। युवक समाज संगठन के प्रदेश अध्यक्ष एवं अखिल हरियाणा विश्वविद्यालय फेडरेशन के पूर्व चेयरमैन जोगिन्द्र सिंह ने किसानों से अपील की है कि वह अपनी खेतों में खड़ी हरी-भरी फसल को हल चलाकर, ट्रैक्टर चलाकर नष्ट ना करें। जोगिन्द्र सिंह पातड़ ने कहा कि भारत एक कृषि प्रधान देश है। खेत में सभी मजदूर व किसान भाई बड़ी मेहनत से अपनी फसलों को खेतों में उगातें है। तीन कृषि कानूनों के बारे में चल रहे आंदोलन के दौरान राष्ट्रीय किसान नेता राकेश टिकैत ने कहा था कि हम अपनी फसलों को खेत खलिहान को पूंजीपति और उद्योगपतियों के हवाले नहीं करेंगे। चाहे हमें अपनी फसलों को नष्ट करना पड़े।

इस भावना में बहकर कुछ किसानों ने अपनी खड़ी फसलें ट्रैक्टर चलाकर नष्ट कर दी हैं। जो सही नहीं है। उन्होंने कहा कि राकेश टिकैत के कहने का संदर्भ कुछ अलग था। किसान देश का अन्नदाता है और अन्नदाता कभी भी अन्न देवता का अपमान नहीं करता है। इसलिए मेरा सभी किसान भाइयों से अनुरोध है कि वह अपनी फसलों को नष्ट ना करें, वह संयम से काम ले, क्योंकि फसलों से ही किसान व मजदूरों के परिवारों तथा उनके बच्चों की शिक्षा-दीक्षा, चिकित्सा व अन्य कार्य निर्भर होते हैं। हिंदुस्तान का किसान मजदूर अब जागरुक हो चुका है। वह आने वाले समय में इस प्रकार के कार्य कदापि नहीं करेगा। यही उम्मीद सभी किसानों से भारत देश की जनता रखती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here