रिमझिम बारिश के बीच श्रद्धालुओं का जन सैलाब बाबा नगरी में…

0

शिवधून व बोल बम के जयकारों से गुंजयमान देवनगरी….. , विनम्रता के साथ स्वच्छ व स्वस्थ मेला बनेगा बाबा बैद्यनाथ धाम की पहचान. देवघर (झारखंड)राजकीय श्रावणी मेला, 2019 के दूसरी सोमवारी के अवसर पर बैद्यनाथ धाम की धरा पर देवतुल्य श्रद्धालुओं का जनसैलाब उमड़ रहा है। रात्रि करीब 11 श्रद्धालुओं की कतार कुमैठा स्टेडियम कोरिडोर पहुंच गयी थी। ऐसे में लाखों की संख्या में आए श्रद्धालुओं की सुविधा व सुरक्षा हेतु जिला प्रशासन पूर्व से हीं होने वाली अप्रत्याक्षित भीड़ को लेकर पूरी तरह से चौकस थी। सम्पूर्ण मेला क्षेत्र के साथ-साथ पूरे रूट लाईन में कतारबद्ध कांवरियों हेतु सुविधा के व्यापक इंतजाम किये गये थे। स्वास्थ्य सुविधा, पेयजल, साफ-सफाई, जगह-जगह पर एम्बूलेंस व बाईक एम्बूलेंस, चंलत चिकित्सालय, बायोटॉयलेट, लाईट के साथ-साथ उनके भक्ति भावना को जागाए रखने हेतु पूरे रूट लाईन में शिवधून बजाने की व्यवस्था की गयी थी।  सुरक्षा का ध्यान लगातार मंदिर एवं रूटलाईन में तैनात दंडाधिकारी, पुलिस अधिकारी व सुरक्षाकर्मियों द्वारा रखा जा रहा है।  इसके तहत् रविवार संध्या से ही पुलिस उप महानिरीक्षक राज कुमार लकड़ा, उपायुक्त राहुल कुमार सिन्हा, पुलिस अधीक्षक नरेन्द्र कुमार सिंह, नगर आयुक्त अशोक कुमार सिंह, उप विकास आयुक्त सुशांत गौरव, अनुमंडल पदाधिकारी देवघर, विशाल सागर, प्रशिक्षु आईएएस रवि आनंद के साथ सभी वरीय अधिकारी रूटलाईन, मंदिर के साथ-साथ मेला क्षेत्र में अपने कर्तव्यो पर उपस्थित थे। इसके अलावे पुलिस उप महानिरीक्षक, उपायुक्त एवं पुलिस अधीक्षक द्वारा लगातार रूटलाईन का निरीक्षण कर विधि व्यवस्था, श्रद्धालुओं की सुविधा, सुरक्षा व्यवस्था के साथ सुगम जलार्पण कराने हेतु प्रतिनियुक्त अधिकारियों व सुरक्षाकर्मियों को आवश्यक व उचिव दिशा-निर्देश दिया जा रहा था। रिमझिम बारिश के बीच मंदिर, नंदन पहाड़, कुमैठा, बीएड कॉलेज, चमारीडीह, सिंहवा, नेहरूपार्क, क्यू कॉम्प्लेक्स कई बार श्रद्धालुओं को कतारबद्ध कर कांवरियों को दी जा रही सुविधिाओं का अवलोकन करते नजर आये उपायुक्त राहुल कुमार सिन्हा व पुलिस अधीक्षक नरेन्द्र कुमार सिंह। रूट लाईन निरीक्षण के क्रम में उपायुक्त ने कहा कि श्रद्धालुओं को सुगमतापूर्वक जलार्पण कराने हेतु कतार के टेल एण्ड से कतारबद्ध कांवरियां को तेजी से आगे बढ़ाया जाय, ताकि श्रद्धालुओं को ज्यादा देर कतार में न रहना पड़े और उनका शीघ्रतापूर्वक जलार्पण हो जाय और मंदिर से कतार की टेल एण्ड की दूरी में कमी आ सके। इसके अतिरिक्त मेला क्षेत्र मे कार्यरत सभी सूचना-सह-सहायता कर्मी, स्वास्थ्यकर्मी, निगम कर्मी, पेयजल एवं स्वच्छता विभाग के कर्मी एवं सफाई कर्मी भी अपने-अपने कार्य स्थल पर पूरी तहर से मुस्तैद दिखे।पहली सोमवारी को लेकर  देवनगरी के साथ-साथ पूरा मंदिर प्रांगण गेरूआ रंग से पटा दिखा। रविवार को मंदिर का पट बंद होते ही कांवरियों की कतार बीएड कॉलेज होते हुए नंनद पहाड़ पहुंच गयी थी। पट खुलते ही बाबा बैद्यनाथ को सबसे पहले सरदार पंडा श्री गुलाब नंद ओझा ने कांचाजल अर्पित किया। इसके पश्चात बोल बम व हर-हर महादेव के जयकारों से मंदिर में प्रातः 3ः40 बजे से जलार्पण शुरू हुआ, जो कि अनवरत जारी है। बाबा बैद्यनाथ का जलार्पण देवतुल्य श्रद्धालु बड़े आराम से करते दिखे।  साथ हीं काफी संख्या में कांवरियों द्वारा बाह्य अरघा के माध्यम से बाबा का जलार्पण भी किया जा रहा है। बाह्य अरघा के माध्यम से जलार्पण करने वाले श्रद्धालु मंदिर प्रांगण में लगे एलईडी स्क्रीन पर बाबा बैद्यनाथ को देखते हुए जलार्पण करते देखे गये। सुलभ और शांतिपूर्ण जलार्पण होने से सभी कांवरिया में काफी हर्ष है एवं बाबा का जलार्पण कर सभी सरकार व जिला प्रशासन की सुविधाओं से संतुष्ट दिखे। ऐसा माना जाता है कि सावन में प्रदोष के दिन बाबा बैद्यनाथ पर जलार्पण करने से भोलेनाथ मनोकांमना पूर्ण करते है। दूसरी सोमवारी को प्रदोष होने की वजह से श्रद्धालुओं की कतार लगातार टेल प्वाइंट पर ही बनी हुई थी। रात्रि से ही श्रद्धालु कतारबद्ध हो रहे थे। रविवार से ही पूरे कांवरियां पथ में कांवरियों की संख्या में  लगातार अप्रत्याक्षित वृद्धि हो रही है। रूट लाईन निरीक्षण के क्रम में उपायुक्त श्री राहुल कुमार सिन्हा ने प्रतिनियुक्त सभी संबंधित विभाग के अधिकारी दण्डाधिकारी, पुलिस पदाधिकारी को निदेशित करते हुए कहा कि देवनगरी आएं हुए देवतुल्य श्रद्धालुओं को स्वच्छ मेला व सुलभ जलार्पण के साथ हर संभव सुविधा मुहैया कराने हेतु सभी अपने कर्तव्य पर पूरी तरह से एक्टिव रहे। श्रद्धालुओं के साथ पूरी विनम्रता के साथ हर संभव उनकी मदद करें। हम सभी का प्रयास होना चाहिए कि दूसरी सोमवारी के अवसर पर यहाँ आगन्तुक सभी कांवरिया को सुगम जलार्पण करा सके, ताकि वे अपने गंतव्य की ओर एक सुखद अनुभूति के साथ एक अच्छा संदेश लेकर बाबा बैद्यनाथ धाम से लौंटे। राजकीय श्रावणी मेले के दूसरी सोमवारी को बाबा बैद्यनाथ पर जलार्पण  के लिए रविवार के रात से ही देवतुल्य श्रद्धालुओं की कतार कुमैठा स्टेडियम पहुंच चुकी थी। रिमझिम बारिश के बीच मंदिर पट खुलने के पश्चात प्रातः 03:46 बाबा का जलार्पण शुरू हुआ। श्रद्धालुओं को सुगमतापूर्वक जलार्पण कराने के साथ-साथ रूट लाईन में सुरक्षा व सुविधा के समूचित इंतजाम जिला प्रशासन द्वारा की गयी थी। भीड़ नियंत्रित करने एवं कतारबद्ध तरीके से श्रद्धालुओं को आगे बढ़ाने हेतु उपायुक्त श्री राहुल कुमार सिन्हा द्वारा प्रत्येक प्वाइंट पर दण्डाधिकारियों व पुलिस अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश देते दिखे। श्रद्धालुओं की सुविधा को देखते हुए सम्पूर्ण मेला क्षेत्र में सूचना जनसम्पर्क विभाग द्वारा 28 सूचना केन्द्रों का निर्माण कराया गया है। इन सूचना केन्द्रों के माध्यम से रात्रि से ही लगातार श्रद्धालुओं के लिए आवश्यक दिशा-निर्देश प्रसारित किये जा रहे थे। इसके अलावे सूचना एवं सहायता केन्द्रों के कर्मी लगातार देवतुल्य श्रद्धालुओं की सहायता में पूरी तरह से एक्टिव दिखे। उपायुक्त राहुल कुमार सिन्हा एवं पुलिस अधीक्षक नरेन्द्र कुमार सिंह द्वारा मानसरोवर के समीप स्थित मेला नियंत्रण कक्ष से सीसीटीवी कैमरा के माध्यम से मेला क्षेत्र में हो रहे गतिविधियों की निगरानी की जा रही है। इस दौरान लाईव कन्ट्रोल रूम में प्रतिनियुक्त सभी कर्मियों को उपायुक्त ने निदेशित किया कि सभी लोग सजग रहते हुए पूरे तत्परता के साथ कार्य करें एवं मेला क्षेत्र हो रहे गतिविधियों पर पैनी नजर रखें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here