ज्योतिसर में नजर आएंगे महाभारत के इतिहास के यादगार लम्हे : फुलिया

0
कुरुक्षेत्र।< उपायुक्त डा. एसएस फुलिया ने कहा कि गीतास्थली ज्योतिसर में श्रीकृष्णा सर्किट के तहत थीम पार्क में आधुनिकतम तकनीकी से महाभारत के साथ-साथ कुरुक्षेत्र के इतिहास तमाम यादगार लम्हों को दिखाया जाएगा। इसके लिए थीम पार्क में 5 हाल बनाए जाएंगे, जिनमें आधुनिकतम तकनीकी का प्रयोग करके महाभारत और कुरुक्षेत्र को दिखाया जाएगा। इतना ही नहीं ज्योतिसर में मेडिटेशन सेंटर का भी निर्माण किया जाएगा। वे शनिवार को ज्योतिसर में श्रीकृष्णा सर्किट के तहत चल रहे निर्माण कार्यो और लाईट और सांउड निर्माण कार्य का निरीक्षण करने के उपरांत अधिकारियों को को कुछ आवश्यक दिशा-निर्देश दे रहे थे। इससे पहले उपायुक्त डा. एसएस फुलिया, कुरुक्षेत्र विकास बोर्ड के मुख्य कार्यकारी अधिकारी संयम गर्ग सहित अन्य अधिकारियों ने सबसे पहले टिलड़ा कम्पनी द्वारा करीब 6 करोड़ रुपए की लागत से बनाए जा रहे लाईट एंड साउंड के निर्माण कार्य का अवलोकन किया। इस दौरान उन्होंने लाईट एंड साउंड के कंट्रोल रुम सहित अन्य निर्माण कार्यो का बारीकि से निरीक्षण किया। इसके उपरांत उपायुक्त ने श्रीकृष्णा सर्किट के तहत बनाए जा रहे 5 हाल, मेडिटेशन हाल, थीम पार्क सहित अन्य निर्माण कार्यो का निरीक्षण कर फीडबैक रिपोर्ट हासिल की है। उन्होंने कहा कि गीता स्थली ज्योतिसर को एक विश्व पर्यटन स्थल के रुप में विकसित करने का काम सरकार द्वारा किया जा रहा है। इस स्थल को दर्शनीय स्थल बनाने के लिए मुख्यमंत्री मनोहर लाल निरंतर फीडबैक रिपोर्ट हासिल कर रहे है, इसलिए श्रीकृष्णा सर्किट के तहत चल रहे निर्माण कार्यो को निर्धारित समयावधि में पूरा करना होगा। सभी अधिकारी निर्माण कार्य की गुणवता पर भी विशेष ध्यान देंगे तथा निर्माण कार्यो में किसी प्रकार की लापरवाही सहन नहीं की जाएगी। उन्होंने कहा कि जब ज्योतिसर में निर्माण कार्य पूरा हो जाएगा तो आधुनिकतम तकनीकी से महाभारत कुरुक्षेत्र के इतिहास के साथ-साथ पवित्र गं्रथ गीता के उपदेशों को भी दिखाया जाएगा। इससे युवा पीढ़ी को मार्गदर्शन मिलेगा, जब युवा पीढ़ी सही मार्ग पर आगे बढ़ेगी तो निश्चित की प्रदेश प्रगति की राह पर तेज गति से आगे बढ़ेगा।
Previous articleट्रिपल मर्डर की घटना में शामिल मोस्ट वान्टेड गिरफ्तार
Next articleभाईचारे की मिशाल है गांव ढाकल
न्यूज पोर्टल की श्रृखला में एक नया नाम सोनीपत 24 न्यूज पोर्टल और जुड़ गया। आप सोच रहे होंगे इसमें कौनसी बड़ी बात है। आखिर हर रोज तो न्यूज पोर्टल बनते रहते हैं। यह सच है कि आज के युग में जो न्यूज पोर्टल बनते हैं। अधिकांश निष्पक्ष और पारदर्शी पत्रकारिता का दावा करते हैं, परंतु जब हम उन्हें देेखते हैं तो हमारी उपेक्षाओं पर खरे नहीं उतरते हैं और हमें निराशा ही हाथ लगती है, हम पाते हैं कि न्यूज पोटर्ल में खबर ही नहीं। किसी ने राजनीतिक पार्टी में, किसी ने सत्ताधारी पार्टी की हां में हां करके पत्रकारिता के मूल स्वरुप को दूर ले जाया जा रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here