प्लास्टिक का बैग रखने वालों के 146 चालान किए : फुलिया

0
कुरुक्षेत्र। < उपायुक्त डा. एसएस फुलिया ने कहा कि एनजीटी के आदेशानुसार नगर परिषद और नगर पालिकाओं के अधिकारियों ने पॉलीथिन रखने और पॉलीथिन की बिक्री करने वालों पर पूरा शिकंजा कस दिया है। इन अधिकारियों ने विशेष अभियान चलाकर शाहबाद, थानेसर, लाडवा, इस्माईलाबाद और पिहोवा में 146 चालान किए है। इन लोगों के खिलाफ नियमानुसार कार्रवाई करते हुए करीब 1 लाख रुपए का जुर्माना भी लगाया है। वे सोमवार को लघु सचिवालय के सभागार में सीएम विंडो, एनजीटी, स्वतंत्रता दिवस समारोह, स्वच्छता अभियान, जल शक्ति अभियान सहित अन्य विषयों को लेकर अधिकारियो की अलग-अलग बैठकों को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि एनजीटी के आदेशानुसार सभी नगर परिषद और नगर पालिकाओं में सूखा और गीला कचरा एकत्रित करने के मामले में जरा सी भी लापरवाही न बरती जाए और पर्याप्त मात्रा में कचरा एकत्रित करने के लिए वाहनों की व्यवस्था करवाई जाए। इतना ही नहीं अधिकारियों व कर्मचारियों को प्रयास करना चाहिए कि घर से ही गीला और सूखा कचरा अलग-अलग इक्टठा किया जाए ताकि डम्पिंग प्वाईंट पर कोई परेशानी का सामना न करना पड़े। उन्होंने कहा कि शाहबाद में हर 100 मीटर पर लिटर बिन और तीन जीवीपी को हटाया गया है, थानेसर में 740 टवीन बिन रखे गए है और श्रीकृष्णा सर्किट स्कीम के तहत 750 नए डस्टबीन खरीदे जाएंगे, लाडवा में 150 टवीन बिन रखे गए है और हर 50 से 100 मीटर पर लिटर बिन की व्यवस्था की गई है, इस्माईलाबाद में लिटर बिन खरीदने की प्रक्रिया चल रही है और पिहोवा में 20 टवीन लिटर बिन स्थापित कर दिए गए है। उन्होंने कहा कि सभी अधिकारी दिन में दो बार रिहायशी और कर्मिशियल क्षेत्रों में सफाई व्यवस्था करवाना सुनिश्चित करेंगे और कचरे का उचित प्रबंधन करना भी तय करेंगे। गलियों और सडक़ों पर निर्माण सामग्री को लेकर सम्बन्धित लोगों को नोटिस जारी किए जाए और निर्माण सामग्री को सडक़ों से हटवाना सुनिश्चित करेंगे। उन्होंने कहा कि जिले को पॉलीथिन मुक्त बनाने के लिए शाहबाद में 56, थानेसर में 37, लाडवा में 26, इस्माईलाबाद में 5 और पिहोवा में 22 चालान किए गए है और इन सभी मामलों में करीब 1 लाख रुपए का जुर्माना भी लगाया गया है। इसके अलावा शहर में बायो मेडिकल वेस्ट प्रबंधन का काम सुचारु रुप से चल रहा है और इस कार्य का निरीक्षण करने के लिए नगराधीश को आदेश दिए गए है। उपायुक्त ने सभी अधिकारियों को सीएम विंडो की शिकायतों का शीघ्र समाधान करने के आदेश देते हुए कहा कि इस मामले में जरा सी भी लपरवाही सहन नहीं की जाएगी। इस मौके पर एडीसी पार्थ गुप्ता, एसडीएम अश्विनी मलिक, एसडीएम पिहोवा डा. संजय कुमार, एसडीएम लाडवा अनिल यादव, डीआरओ डा. चांदी राम चौधरी, सीएमओ डा. सुखबीर सिंह सहित अन्य अधिकारी मौजूद थे। अनाज मंडी में मनाया जाएगा जिलास्तरीय स्वतंत्रता दिवस समारोह< उपायुक्त डा. एसएस फुलिया ने कहा कि स्वतंत्रता दिवस समारोह का आयोजन स्थानीय अनाज मंडी में 15 अगस्त को किया जाएगा। उन्होंने अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश देते हुए कहा कि स्वतंत्रता दिवस समारोह से सम्बन्धित अपनी सभी तैयारियां पूरी कर ले, इसमें किसी प्रकार की कोई लापरवाही सहन नहीं की जाएगी। इस राष्टï्रीय पर्व को सफल बनाने के लिए सम्बन्धित विभागों के अधिकारियों की डयूटियां लगा दी गई है और सभी अधिकारी समय रहते अपने-अपने स्तर पर तैयारियां पूरी करना सुनिश्चित करेंगे। सभी कर्मचारियों की फैमिली आईडी के लिए विभागास्तर पर भरा जाए फार्म< उपायुक्त डा. एसएस फुलिया ने सभी विभाध्यक्षों को कहा कि अपने-अपने विभाग से सम्बन्धित सभी कर्मचारियों की फैमिली आईडी बनवाने तथा आगामी 25 जुलाई तक कार्य पूरे होने पर उपायुक्त कार्यालय को फैमिली आईडी पूर्ण होने पर प्रमाण पत्र देना सुनिश्चित करे। उन्होंने बताया कि जिले में फैमिली आईडी से सम्बन्धित 91 प्रतिशत कार्य पूरा हो चुका है > >हर ग्राम पंचायत में 500 पौधे लगाकर बीडीपीओ सौंपना होगा प्रमाण पत्र उपायुक्त डा. एसएस फुलिया ने पौधागिरी अभियान से सम्बन्धित बताया कि जिले में 90 हजार पौधे लगाने का लक्ष्य रखा गया है, जिसमें से 40 हजार पौधे वितरित कर दिए गए है और इसी माह लक्ष्य को पूरा किया जाएगा। उन्होंने बताया कि जल शक्ति अभियान के तहत ग्राम पंचायतों के लिए 1 लाख 96 हजार पौधे लगवाने का लक्ष्य है, जिसमेें से 1 लाख 10 हजार पौधे वितरित किए जा चुके है। उन्होंने बताया कि एक पंचायत को 500 पौधे लगाने का लक्ष्य दिया गया है। इससे सम्बन्धित उन्होंने बीडीपीओ को निर्देश दिए कि सभी ग्राम पंचायतों से तालमेल करके पौधे लगवाने सुनिश्चित करे तथा कार्य पूर्ण होने पर उपायुक्त कार्यालय में प्रमाण पत्र भी दे कि कार्य पूरा हो चुका है। इसी तरह उन्होंने जिला शिक्षा अधिकारी को निर्देश दिए कि स्कूलों में भी पौधे लगाने के लक्ष्य को पूरा करे तथा कार्य पूर्ण होने से सम्बन्धित प्रमाण पत्र भी दे। उन्होंने यह भी कहा कि सक्षम युवाओं को पौधा लगाने के लिए प्रेरित करे तथा कहे की कम से कम 20 पौधे एक सक्षम युवा जरुर लगाए। > प्रशासन के प्रयासों से सडक़ दुर्घटनाओं की मृत्यु दर में हुई 12 प्रतिशत की कमी< एडीसी पार्थ गुप्ता ने रोड़ सेफ्टी की रिपोर्ट प्रस्तुत करते हुए कहा कि जिले में पिछले 6 माह में सडक़ दुर्घटनाओं में 110 लोगों की मौत हुई और फिलहाल प्रशासन के प्रयासों से इस आंकड़े में पिछले साल की तुलना में 12 प्रतिशत की कमी आई है। उन्होंने बताया कि जिले में 31 ब्लैक स्पॉट है, जिसकी पहचान कर ली गई है। इन ब्लैक स्पॉटों पर 6 महीने में आपसी तालमेल के साथ कार्य करेेंगे तथा कोशिश करेंगे कि दुर्घटनाओं में ओर कमी आए। उन्होंने कहा कि सडक़ों पर जो गढ्ढïे है उन्हें भरवाया जाए ताकि कोई दुर्घटना ना हो। इससे सम्बन्धित सभी अधिकारी जागरुकता लाए तथा लोगों को कहे कि सीट बेल्ट व हेल्मेट लगाए तथा गाड़ी धीरे चलाए।एडीसी पार्थ गुप्ता ने स्वच्छता दर्पण के बारे में बताया कि स्वच्छता दर्पण स्वच्छ भारत मिशन के अंतर्गत ग्रामीण क्षेत्रों में चल रहा है। उन्होंने बीडीपीओ को कहा कि इससे सम्बन्धित सभी ग्राम पंचायते प्रवेश द्वार पर स्वच्छता से सम्बन्धित फलैक्स लगाए तथा पेंटिंग से सम्बन्धित चल रहे सभी चित्रों को इसी सप्ताह पूरा करना सुनिश्चित करवाएं। उन्होंने बताया कि स्कोपिड का निर्माण मनरेगा व जल शक्ति अभियान के सौजन्य से करवाए। उन्होंने डीडीए को कहा कि जल शक्ति अभियान से सम्बन्धित हर गांव में 31 जुलाई तक किसान मेले का आयोजन करे तथा इससे सम्बन्धित सभी अधिकारी अपना कार्य को पूरा करना सुनिश्चित करे।< > पीने के पानी को उबालकर व क्लोरिन की गोली डालकर पिए< उपायुक्त डा. एसएस फुलिया ने कीर्तिनगर व सरस्वती कालोनी के निवासियों से अपील करते हुए कहा कि इन दोनों क्षेत्रों में जो पीने का पानी आ रहा है, उस पानी को अभी उबाल कर ही पिए तथा पानी में नियमानुसार क्लोरिन व हैलोजीन की गोली को डालकर पिए। उन्होंने कहा कि इन क्षेत्रों में पीने के पानी की व्यवस्था पानी के टैंकरों द्वारा करवा दी गई है। उन्होंने सूचना, जन सम्पर्क एवं भाषा विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए कि इन क्षेत्रों में व्यापक प्रचार-प्रसार करवाया जाए।
Previous articleकावड़ भावना, भक्ति व श्रद्धा का प्रतीक
Next articleपर्यावरण संरक्षण के लिए वेस्ट को बेस्ट में बदलने की आवश्यकता
न्यूज पोर्टल की श्रृखला में एक नया नाम सोनीपत 24 न्यूज पोर्टल और जुड़ गया। आप सोच रहे होंगे इसमें कौनसी बड़ी बात है। आखिर हर रोज तो न्यूज पोर्टल बनते रहते हैं। यह सच है कि आज के युग में जो न्यूज पोर्टल बनते हैं। अधिकांश निष्पक्ष और पारदर्शी पत्रकारिता का दावा करते हैं, परंतु जब हम उन्हें देेखते हैं तो हमारी उपेक्षाओं पर खरे नहीं उतरते हैं और हमें निराशा ही हाथ लगती है, हम पाते हैं कि न्यूज पोटर्ल में खबर ही नहीं। किसी ने राजनीतिक पार्टी में, किसी ने सत्ताधारी पार्टी की हां में हां करके पत्रकारिता के मूल स्वरुप को दूर ले जाया जा रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here