सोनीपत की ऐतिहासिक विरासतों को बचाने के लिए सभी का साथ लेंगे : डा. सिंह

0
रणबीर सिंह रोहिल्ला, सोनीपत। सोसाइटी फॉर दी डेवलपमेंट एंड ब्यूटीफिकेशन आफ दी सोनीपत टाउन की बैठक सोसायटी के अध्यक्ष एवं उपायुक्त डा. अंशज सिंह की अध्यक्षता में लघु सचिवालय में आयोजित हुई। शुक्रवार को आयोजित इस बैठक में विशेष रूप से 7 एजेंडों पर विचार-विमर्श हुआ। इस दौरान उपायुक्त डा. अंशज सिंह ने कहा कि ऐतिहासिक स्थलों को बचाना व संरक्षण करना एक महत्वपूर्ण कार्य है और हमें सभी को मिलकर इस कार्य को पूरा करना है। उन्होंने कहा कि वह स्वयं सभी ऐतिहासिक स्थलों का निरीक्षण करेंगे। इस दौरान उन्होंने आर्केलोजिकल सर्वे आफ इंडिया के अधिकारियों को निर्देश दिए कि वह शहर को जो प्राचीन स्थल हैं उनकी एक रिपोर्ट तैयार करें, ताकि सरकार के स्तर पर इसे शुरू करवाया जा सके। इसके साथ ही उन्होंने खिजर मकबरे पर शौचालय और अन्य कार्यों को लेकर भी दिशा निर्देश दिए। सोसायटी के सदस्यों के सम्मुख प्रगति रिपोर्ट 2019 को संयुक्त सचिव जसबीर सिंह खत्री द्वारा सदन के सम्मुख प्रस्तुत की गई। इस अवसर पर सोसायटी के सदस्य सचिव राजेश कुमार खत्री ने बताया कि संग्रहालय में वस्तुएं सजाने का कार्य शुरू हो चुका है। यहां विशेष रूप से इंदिरा गांधी राष्ट्रीय कला केंद्र भारत सरकार के नेतृत्व में एक दल यहां पहुंच चुका है। जिनके लिए यहां सोसाइटी की तरफ से रहने खाने की व्यवस्था पूर्ण की गई है, जिसमें एक व्यक्ति न्यूजीलैंड से भी जहां टीम में शामिल है। इस टीम द्वारा यहां पर विशेष रूप से 100 से भी अधिक लोगों द्वारा उपलब्ध करवाई गई प्राचीन वस्तुओं की मेजरमेंट का कार्य है किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि यहां सोनीपत के कोट मोहल्ला क्षेत्र में ब्रिटिश पीरियड की प्राचीन तहसील भवन जर्जर होकर धराशाई हो चुकी थी। जिसकी भूमि पर आसपास के क्षेत्रों से लोग अवैध रूप से कब्जा कर रहे थे। तब सोसायटी के नेतृत्व में 17 दिसंबर 2014 को वहां पर चारदीवारी का कार्य शुरू कर इस भूमि को बचाया गया और बाद में यहां पर जर्जर हो रही बिल्डिंग का भी दोबारा से जीर्णोद्धार किया गया। अब यहां पर यह संग्रहालय बनाया जा रहा है। इस बैठक में विशेष रूप से एसडीएम विजय सिंह, सीटीएम शंभू राठी, सोसायटी के सलाहकार नरेश चंद गुप्ता, कृष्ण कुमार, शैलेंद्र दहिया, विजय कुमार, इंदिरा गांधी राष्ट्रीय कला केंद्र भारत सरकार के वास्तु कला विभाग के मुख्य विभागाध्यक्ष अचल पांड्या, पुरातत्व विभाग के अधिकारी डॉ डीवी शर्मा, इंदिरा गांधी राष्ट्रीय कला केंद्र में फाइनेंस विभाग के ओएसडी बीएस बिट्स, राजेश स्वरूप शास्त्री, पवन बंसल, नक्शा नवीस देवेंद्र दहिया, लाल बहादुर वर्मा, के अतिरिक्त अन्य प्रशासनिक अधिकारी भी मौजूद रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here