जजपा कार्यकर्ताओं ने राज्यमंत्री कृष्ण बेदी के आवास किया घेराव

0
राज्य मंत्री नहीं मिले, तहसीलदार को सौंपा ज्ञापन का< p> कुरुक्षेत्र। हरियाणा प्रदेश में बढ़ रही बेरोजगारी, बिगड़ती कानून व्यवस्था, महिला अपराधों में बढ़ोत्तरी, बिजली व पानी की समस्या तथा किसानों की हो रही दुर्दशा आदि अनेक समस्याओं को लेकर आज जननायक जनता पार्टी के कार्यकर्ता राज्यमंत्री कृष्ण बेदी के निवास का घेराव करने शाहाबाद उनके आवास पर पहुंचे। कार्यकर्ताओं ने कृष्ण बेदी के आवास पर पहुंचकर प्रदर्शन करते हुए नारेबाजी की। प्रदर्शन की अगुवाई जजपा के युवा प्रदेश प्रभारी सुमित राणा, युवा प्रदेशाध्यक्ष रविन्द्र सांगवान, जिला अध्यक्ष कुलदीप मुलतानी, राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य मायाराम, युवा जिलाध्यक्ष डॉ. जसविन्द्र खैहरा तथा महिला नेत्री संतोष दहिया ने की। जजपा कार्यकर्ता इस घेराव प्रदर्शन के चलते प्रात: से ही शाहाबाद पार्टी कार्यालय में एकत्रित होना शुरू हो गए थे। कार्यकर्ताओं ने राज्यमंत्री कृष्ण बेदी के निवास स्थान शाहाबाद की ओर रुख किया। राज्यमंत्री के निवास तक पहुंचने से पहले पुलिस बल ने उन्हें रोकने का प्रयास किया। पुलिस से भिड़ंत के बाद जजपा कार्यकर्ता कृष्ण बेदी के निवास पर पहुंचे और नारेबाजी की। परन्तु कृष्ण बेदी अपने निवास पर मौजूद न होने के चलते कार्यकर्ताओं ने मुख्यमंत्री और राज्यपाल के नाम शाहाबाद के तहसीलदार को ज्ञापन सौंपा। तहसीलदार ने कार्यकर्ताओं को आश्वासन दिया कि वे उनके इस मांगपत्र को सरकार तक पहुंचाने का काम करेंगे। जजपा के युवा प्रदेश प्रभारी सुमित राणा व युवा प्रदेशाध्यक्ष रविन्द्र सांगवान ने कहा कि आज हरियाणा अपने इतिहास के सबसे बुरे दौर से गुजर रहा है। सरकार और प्रशासन के ढीले रवैये और काम नहीं करने की नियत के कारण प्रदेश का आम जन मूलभूत सुविधाओं के लिए तरस रहा है। जनता की इन्हीं समस्याओं और मांगों को लेकर आज कार्यकर्ताओं ने राज्यमंत्री के आवास पर घेराव किया।   उन्होंने कहा कि केन्द्र और प्रदेश सरकार गौ गीता, स्वच्छता, बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ जैसे अभियानों को चलाकर जनता का ध्यान असली मुद्दों से भटकाकर अपना उल्लू सीधा करने में लगी हुई है। हालात ये हैं कि आज प्रदेश में आए दिन सरेआम अपराधिक घटनाएं घट रही हैं, बेरोजगारों को भले ही सरकार पारदर्शिता के आधार पर सरकारी नौकरियां देने के दावे कर रही है, परन्तु निजी क्षेत्र में हरियाणा के बेरोजगार युवाओं की संख्या बढ़ती जा रही है। उन्होंने कहा कि निजी क्षेत्र में युवाओं को आरक्षण देने पर सरकार को जोर देना चाहिए ताकि बेरोजगारी पर कुछ हद तक लगाम लग सके। इसका मुख्य कारण बड़े-बड़े औद्योगिक शहरों और इकाइयों में दूसरे राज्यों के युवाओं को नौकरियां दी जा रही हैं और प्रदेश के युवाओं की अनदेखी की जा रही है। गुडग़ांव, बल्लभगढ़, फरीदाबाद, करनाल, अंबाला, कैथल, कुरुक्षेत्र व अन्य शहरों में असंख्य ऐसी औद्योगिक इकाइयां हैं, जिनमें दूसरे राज्य के लोगों को रोजगार में प्राथमिकता दी जा रही है। जजपा प्रदेश के युवाओं को निजी क्षेत्र में 75 प्रतिशत रोजगार दिलवाने की एक मुहिम शुरू कर चुकी है। जजपा की सरकार बनते ही इसे कानून के रूप में सरकारी मान्यता दी जाएगी। जजपा नेता कुलदीप मुलतानी, माया राम चन्द्रभानपुरा, डॉ. जसविन्द्र खैहरा, डॉ. संतोष दहिया ने कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा विकास के किए जा रहे दावों की पिछले 4 दिनों से चल रही बरसात ने पोल खोल कर रख दी है। जिले के कई क्षेत्र बरसात के पाने में डूब गए हैं। जिला प्रशासन और नेताओं द्वारा हर वर्ष होने वाली ऐसी बरसात के बावजूद भी कोई इंतजाम न किए गए और अब बरसात में डूबे लोगों को प्रशासन से ज्यादा सामाजिक संस्थाएं राहत पहुंचाने में लगी हैं।<
Previous articleकावडिय़ों के लिए मोबाइल डिस्पैंसरी पुण्य का काम : पंवार
Next articleधोखाधडी करके पैसे हडपने का आरोपी गिरफतार
न्यूज पोर्टल की श्रृखला में एक नया नाम सोनीपत 24 न्यूज पोर्टल और जुड़ गया। आप सोच रहे होंगे इसमें कौनसी बड़ी बात है। आखिर हर रोज तो न्यूज पोर्टल बनते रहते हैं। यह सच है कि आज के युग में जो न्यूज पोर्टल बनते हैं। अधिकांश निष्पक्ष और पारदर्शी पत्रकारिता का दावा करते हैं, परंतु जब हम उन्हें देेखते हैं तो हमारी उपेक्षाओं पर खरे नहीं उतरते हैं और हमें निराशा ही हाथ लगती है, हम पाते हैं कि न्यूज पोटर्ल में खबर ही नहीं। किसी ने राजनीतिक पार्टी में, किसी ने सत्ताधारी पार्टी की हां में हां करके पत्रकारिता के मूल स्वरुप को दूर ले जाया जा रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here