सिरसा में किसानों ने फूंका कृषि मंत्री व बैंक का पुतला

0
राजेंद्र कुमार सिरसा। फसल बीमा योजना में हुए कथित घोटाले से आक्रोशित किसानों ने आज सिरसा में कृषि मंत्री ओपी धनखड़ व बैंकों का पुतला फूंका। सर्कुलर रोड पर एचडीएफसी बैंक के बाहर धरनारत् किसानों ने कर्ज निपटारा समिति के अध्यक्ष कर्ण चाड़ीवाल की अध्यक्षता में सरकार व बैंकों के खिलाफ नारेबाजी करते हुए कृषि मंत्री ओपी धनखड़ व बैंकों का पुतला फूंककर रोष व्यक्त किया और 5 मिनट तक बैंक का घेराव किया।किसान नेता एवं कर्जा निपटारा कमेटी के अध्यक्ष कर्ण चाडीवाल ने कहा कि बैंकों ने करोड़ों रुपयों के घोटाले को अंजाम दिया है और सरकार इस सिलसिले में कोई कार्रवाई नहीं कर रही जिससे प्रतीत होता है कि यह सब सरकार की मिलीभगत से हुआ है। भारतीय जनता पार्टी स्वयं को पारदर्शी सरकार बताती है लेकिन उक्त मामले में कार्रवाई का न होना, सरकार की कार्यशैली पर प्रश्र चिह्न इंगित करता है। किसान नेता कुलदीप बाना व संतलाल ढिल्लों धरनारत्त किसानों को संबोधित करते हुए कहा कि वे किसानों के इस संघर्ष में उनके साथ है और सरकार व बैंकों के खिलाफ यह लड़ाई तब तक जारी रहेगी जब तक इस मामले में न्याय नहीं मिल जाता। इस मौके पर जयवीर चाडीवाल, महेंद्र बैनीवाल, प्रशांत बेरड़, आजाद डिंग, प्रहलाद रायपुर, ईश्वर महला, सोनू भाटी, प्रकाश ममेरा, सुभाष पन्नीवाला, हरि सिंह सरपंच, कुलदीप कासनिया, राधेश्याम, शमशेर, अमनदीप गाट, अरविंद बैनीवाल, यशवीर गाट, रणधीर नेजिया, राजेंद्र कस्वां, इंद्रपाल पन्नीवाला, सुरजीत बाना, कुलदीप केहरवाला, अनिल भिड़ासरा सहित अनेक किसान मौजूद थे।
Previous articleसमस्याओं का समाधान समय पर होना जरूरी : रावत
Next articleकावड़ वाहनों पर डीजे-लाउड स्पीकर लगाना प्रतिबंधित
न्यूज पोर्टल की श्रृखला में एक नया नाम सोनीपत 24 न्यूज पोर्टल और जुड़ गया। आप सोच रहे होंगे इसमें कौनसी बड़ी बात है। आखिर हर रोज तो न्यूज पोर्टल बनते रहते हैं। यह सच है कि आज के युग में जो न्यूज पोर्टल बनते हैं। अधिकांश निष्पक्ष और पारदर्शी पत्रकारिता का दावा करते हैं, परंतु जब हम उन्हें देेखते हैं तो हमारी उपेक्षाओं पर खरे नहीं उतरते हैं और हमें निराशा ही हाथ लगती है, हम पाते हैं कि न्यूज पोटर्ल में खबर ही नहीं। किसी ने राजनीतिक पार्टी में, किसी ने सत्ताधारी पार्टी की हां में हां करके पत्रकारिता के मूल स्वरुप को दूर ले जाया जा रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here