श्रद्धालुओं हेतु सुरक्षा व ट्रैफिक व्यवस्था को पूरी तरह से दुरूस्त : पुलिस अधीक्षक

0
देवघर झारखंड श्रावणी मेला, 2019 की तैयारियों को लेकर पुलिस अधीक्षक नरेन्द्र कुमार सिंह की अध्यक्षता में श्रद्धालुओं को बेहतर सुरक्षा व्यवस्था उपलब्ध कराने के उद्देश्य से आज सूचना भवन के सभागार में डी0एस0पी0 एवं इंस्पेक्टर रैंक के अधिकारियों के साथ समीक्षात्क आयोजित की गयी। इस दौरान पुलिस अधीक्षक द्वारा वहां उपस्थित सभी डी0एस0पी0 एवं इंस्पैक्टर को निदेश दिया गया कि मेला क्षेत्र में जहाँ भी उनकी प्रतिनियुक्ति की गई है, वहाँ सभी ईमानदारी एवं पूरे कर्त्तव्यनिष्ठा के साथ कार्य करें व रूट लाईन में हो रही गतिविधियों पर विशेष नजर रखें, ताकि विधि व्यवस्था संधारण में किसी प्रकार की समस्या उत्पन्न न हो। इसके अलावा उन्होंने कहा कि विगत वर्षों के श्रावणी मेला से सीख लेते हुए हम लोगों को कार्य करने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि रैफ के डिप्टी कमाण्डेन्ट एवं एसएसबी के डिप्टी कमाण्डेन्ट भी यहाँ हैं। उनके निर्देशन में मेला क्षेत्र में प्रतिनियुक्त रैफ एवं एसएसबी के सुरक्षाकर्मियों को कार्य करना है। एनडीआरएफ की टीम भी यहाँ आकर अपने काम में लग गयी हैं। उन्होंने आगे कहा कि जो भी ओपी प्रभारी हैं उनकी किसी भी प्रकार की कोताही बर्दाश्त नहीं की जायेगी। यदि कोई अनुशासन तोड़ता है तो अगले ही दिन सरकार के तरफ से उसके ऊपर कार्यवाही की जायेगी। मेला में सुरक्षा व्यवस्था को लेकर एटीएस की टीम को भी पुलिस अधीक्षक नरेन्द्र कुमार सिंह ने आवश्यक दिशा-निर्देश दिया। इसके अलावे उन्होंने कहा कि मेला क्षेत्र में कुल 11 ट्रैफिक ओपी के प्रभारी होगें, डीएसपी रैंक के अधिकारी इसके अतिरिक्त 01 डीएसपी, 33 इंस्पैक्टर, 444 एएसआई व एसआई एवं 1422 पुलिसकर्मी तैनात रहेंगे। साथ ही सुरक्षा व्यवस्था को दुरूस्त करने के उद्देश्य से मेला क्षेत्र में कुल 21 पुलिस ओपी भी बनाये गये है। इसके अलावा बैठक के दौरान पुलिस अधीक्षक ने कहा कि क्षेत्र में प्रतिनियुक्त यदि किसी भी कर्मी द्वारा किसी प्रकार की लापरवाही बरती गयी तो सरकार द्वारा उनके विरूद्ध कठोर कानूनी कार्रवाई की जायेगी। साथ ही उनके द्वारा एनडीआरएफ की टीम को शिवगंगा में मोर्चा संभालने की बात भी कहीं गई। इसके अलावा उनके द्वारा बतलाया गया कि एनडीआरएफ की टीम, रैफ की टीम, एसएसबी की पूरी कम्पनी, एटीएस की दो यूनिट, जेजे के एक पूरी यूनिट, बम स्क्वायड और डॉग स्क्वायड् को लगाया गया है एवं बाबा बैद्यनाथ मंदिर में भी एनडीआरएफ के टीम को प्रतिनियुक्त किया जायेगा, ताकि किसी प्र्रकार के आपातकालीन स्थिति से निपटा जा सके। उन्होंने कहा कि जिला प्रशासन पूरी तरह से श्रावणी मेले के सफल संचालन को लेकर तैयार है। मेला में टै्रफिक व सुरक्षा व्यवस्था को देखते हुए देखते हुए शहर के अंदर 54 स्थानों पर ड्रॉप गेट बनाये गये है। इन सभी ड्रॉप गेट पर यातायात जवानों को प्रतिनियुक्त किया गया है। मौके पर अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी, देवघर विकास कुमार श्रीवास्तव, हेड क्वार्टर डीएसपी, सी0सी0आर डी0एस0पी, साइबर डीएसपी एवं पुलिस बल के अधिकारी और बाहर से आये विभिन्न पुलिस पदाधिकारिगण आदि उपस्थित थे<

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here