डीसीआरयूएसटी में तीन स्तरों में आयोजित की जाएगी प्रवेश परीक्षा

0
>कुल 3015 विद्यार्थी देगें प्रवेश परीक्षा, परीक्षा के लिए पैन देगा विश्वविद्यालय, इलैक्ट्रोनिक्स उपकरणों पर रहेगी पाबंदी < < रणबीर सिंह रोहिल्ला, सोनीपत। दीनबंधु छोटूराम विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, मुरथल में स्नातक, स्नातकोत्तर व पीएचडी के लिए प्रवेश परीक्षा का आयोजन तीन स्तर में किया जाएगा। चार दिन में कुल 3015 एक विद्यार्थी परीक्षा देगें। एमएससी कैमिस्ट्री में एक सीट के लिए विश्वविद्यालय को पांच आवेदन प्राप्त हुए हैं। परीक्षा के लिए परीक्षार्थी को पैन विश्वविद्यालय प्रदान करेगा। इलैक्ट्रोनिक्स उपकरणों पर पूर्णतय बैन रहेगा। विश्वविद्यालय के परीक्षा नियंत्रक डा. एम.एस. धनखड़ ने बताया कि विश्वविद्यालय में स्नातक व स्नातकोत्तर प्रवेश परीक्षा 9 जुलाई से प्रारंभ हो जाएगी। परीक्षा का आयोजन तीन स्तरों में किया जाएगा। प्रवेश परीक्षाओं के लिए एडमिट कार्ड विश्वविद्यालय की वेबसाइट पर उपलब्ध हैं। डा. धनखड़ ने कहा कि पीएचडी के लिए प्रवेश परीक्षा का आयोजन केवल 12 जुलाई को ही किया जाएगा। पीएचडी के लिए पहले स्तर में कुल 676 विद्यार्थी प्रवेश परीक्षा देंगे। प्रवेश परीक्षा के सफल आयोजन के लिए विश्वविद्यालय के परीक्षा नियंत्रक डा. एम.एस.धनखड़ ने केंद्र अधीक्षक, उपाधीक्षक, पर्यवेक्षक व आब्जर्वर की ड्यूटी लगा दी गई हैं। परीक्षा के लिए एक केंद्र अधीक्षक, तीन उपाधीक्षक  व 32 पर्यवेक्षक तथा 2 आब्जर्वर की ड्यूटी लगाई गई है। कैमिस्ट्री में आए एक सीट पर पांच आवेदन< धनखड़ ने कहा कि एमएससी. कैमिस्ट्री में 60 सीटों के लिए 318 विद्यार्थी प्रवेश परीक्षा देगें, जबकि फिजिक्स में 268 व मैथ में 171 विद्यार्थी प्रवेश परीक्षा देगें। बीबीए-एमबीए डूअल डीग्री में 60 सीटों के लिए 216 विद्यार्थी प्रवेश परीक्षा देगें, जबकि बीएस.सी-एमएस.सी डूअल डीग्री (फिजिक्स, कैमिस्ट्री व बायोटेक) में 90 सीटों के लिए 390 विद्यार्थी प्रवेश परीक्षा देगें। बीएस.सी-एमएस.सी. मैथ डूअल डीग्री में 60 सीटों के लिए 224 विद्यार्थी प्रवेश के लिए परीक्षा देगें।

इलैक्ट्रोनिक्स उपकरण पर रहेगी पाबंदी परीक्षा नियंत्रक डा. एम.एस. धनखड़ ने कहा कि परीक्षार्थियों को परीक्षा के दौरान परीक्षा केंद्र में किसी भी प्रकार का इलैक्ट्रोनिक्स उपकरण ले जाने पर पूर्णतय पाबंदी रहेगी। परीक्षार्थी की परीक्षा केंद्र में प्रवेश करने से पहले तलाशी ली जाएगी। परीक्षार्थियों को समय से पूर्व परीक्षा केंद्र पर रिपोर्ट करनी होगी। उन्होंने कहा कि परीक्षा प्रारंभ होने के 15 मिनट बाद परीक्षा केंद्र में परीक्षार्थी को बैठने की अनुमति नहीं दी जाएगी। परीक्षा के लिए क्या साथ लेकर आएं >डा.धनखड़ ने कहा कि परीक्षा के लिए परीक्षार्थी अपना एडमिट कार्ड व एक पहचान पत्र अवश्य लेकर आएं। परीक्षार्थियों को समय देखने के लिए प्रत्येक कक्ष में दीवार घड़ी लगाई जाएगी। उन्होंने कहा कि परीक्षार्थी को प्रश्नपत्र के साथ तीन ओएमआर सीट दी जाएंगी। जिसमें दो कार्बन कॉपी होंगी तथा एक ओरिजनल ओएमआर सीट होगी। इनमें से एक ओएमआर सीट परीक्षार्थी के लिए होगी, जबकि एक ओएमआर सीट कार्यालय के लिए होगी। कर सकते हैं प्रश्नपत्र से संबंधित शिकायत परीक्षा नियंत्रक डा. एस.एस.धनखड़ ने कहा कि यदि किसी परीक्षार्थी को प्रवेश परीक्षा के प्रश्नपत्र से संबंधित कोई शिकायत है तो परीक्षा उसी दिन शिकायत परीक्षा नियंत्रक को दे सकता है। लेकिन परीक्षा से अगले दिन प्रश्नपत्र की शिकायत को स्वीकार नहीं किया जाएगा।

>ये क्या कहना है रजिस्ट्रार प्रो. खुराना का >विश्वविद्यालय के रजिस्ट्रार प्रो. अनिल खुराना ने कहा कि प्रवेश परीक्षा के सफल आयोजन को लेकर सभी तैयारियां पूर्ण कर ली गई हैं। उन्होंने कहा कि प्रवेशार्थी परीक्षा के बाद अपनी उत्तर पुस्तिका की कार्बन कॉपी अपने साथ ले जा सकता है, ताकि वह यह देख सके कि उसने कितने प्रश्न ठीक किए हैं। इससे परीक्षार्थी स्वयं का मूल्याकंन अच्छी तरह कर पाएगा। डा.खुराना ने कहा कि परीक्षार्थी को ओएमआर सीट भरने के लिए पैन विश्वविद्यालय द्वारा उपलब्ध करवाया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here