दिल्ली में राजघाट पर 15 को आरजेएपी का सत्याग्रह आंदोलन

0
अमन अटकान, सोनीपत। एससी, एसटी, ओबीसी, ईबीसी और आंग्ल-भारतीय के नाम से जारी आरक्षण की व्यवस्था के खिलाफ राष्ट्रीय जातिगत आरक्षण विरोधी पार्टी अब देश भर में निर्णायक सत्याग्रह आंदोलन शुरू करेगी। इसकी अंतिम रूपरेखा के लिए आगामी 15 जुलाई, (सोमवार) को राजघाट पर देश भर के तमाम आरक्षण/जातिगत आरक्षण विरोधी दलों और संगठनों की रणनीतिक बैठक और प्रदर्शन होगा। आंदोलन की तैयारियों को लेकर दिल्ली पहुंचे पार्टी महासचिव रविन्द्र जठेड़ी ने बताया कि मौजूदा केंद्र सरकार भी उनकी पार्टी सहित देश भर के तमाम आरक्षण विरोधी संगठनों की मांग को नजरअंदाज करते हुए लोकसभा, राज्य विधानसभाओं, शिक्षा, चिकित्सा और रोजगार तथा पदोन्नतियों में आरक्षण की व्यवस्था को लगातार जाति दर जाति बढ़ावा देते हुए जारी रखे हुए है। उन्होंने बताया कि केंद्र सरकार हाल में चल रहे संसद सत्र में ही आर्टिकल-334 के पुन: 10 वर्षीय विस्तार के लिए संविधान संशोधन बिल लाने की तैयारी में है जो कि जनहित व राष्ट्रहित में नहीं है। ऐसी परिस्थितियों में पार्टी द्वारा देश भर में लोकतांत्रिक, अहिंसक, शांतिपूर्ण और निर्णायक सत्याग्रह आंदोलन शुरू करने की अंतिम रूपरेखा तय करने को आगामी 15 जुलाई को सुबह सवा दस बजे राजधानी दिल्ली के ऐतिहासिक राजघाट पर देश भर से तमाम सहयोगी समर्थकों व समान विचारधारा के संगठन और दलों के प्रतिनिधियों को रणनीतिक बैठक एवं प्रदर्शन कार्यक्रम में आमंत्रित किया जा रहा है। इस कार्यक्रम में देश भर से सैकड़ों की संख्या में आरक्षण विरोधी प्रतिनिधियों के पहुंचने की संभावना है। रविन्द्र जठेड़ी ने कहा कि राष्ट्रीय जातिगत आरक्षण विरोधी पार्टी का हर कार्यकर्ता अपने पार्टी मिशन-2019 के तहत अब कुर्बानी और बलिदान देगा लेकिन एससी, एसटी, ओबीसी, ईबीसी और आंग्ल भारतीय के रूप में जाति-धर्म आधारित आरक्षण की व्यवस्था को सहन नहीं करेगा। उन्होंने देश की सम्मानित जनता से जातिगत आरक्षण विरोधी निर्णायक सत्याग्रह आंदोलन में अपनी भागीदारी सुनिश्चित करने का आह्वान किया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here